सांस्कृतिक आयाम

भारतीय संस्कृति को समर्पित ब्लॉग © & (P) All Rights Reserved

24 Posts

4303 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3669 postid : 228

माँ से अभिलाषा - वसंत पंचमी पर विशेष

Posted On: 7 Feb, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

माँ सरस्वती

मन चंचल सब साध विफल हैं, अति विकट कठिनाई,
इस अरण्य में तमस-व्याघ्र से है, करनी ये लड़ाई;


हैं विचार अवगुंठित मन में संशय किस पथ जाऊं,
आलोकित हो दिव्य-प्रकाश से, स्नेह तेरा मैं पाऊँ;


‘हंसवाहिनी”वीणावादिनी’ पूर्ण करो अभिलाषा,
दग्ध हृदयों में अंकित कर दो ‘ज्ञान-प्रेम’ परिभाषा|

| NEXT



Tags:               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (18 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

229 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

bhaijikahin by ARVIND PAREEK के द्वारा
February 8, 2011

प्रिय श्री वाहिद जी, मॉं शारदे से यही प्रार्थना है कि वह इस मंच के प्रत्‍येक लेखक पर इसी तरह कृपा बनाएं रखें । आपकों वसंतपंचमी की शुभकामनाएं। साथ ही Valentine Contest के लिए भी शुभकामनाएं। अरविन्‍द पारीक

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    आदरणीय पारीक जी| लंबे समय बाद आपसे प्रतिक्रिया पाकर आह्लादित हुआ| आपकी प्राथर्ना माँ को स्वीकार हो यही कामना है|बहुत शुक्रिया आपका|

rajni thakur के द्वारा
February 8, 2011

valentine डे के शोर में आपने अच्छी याद दिलाई कि कलम का जोर आजमाने के साथ साथ एक बार माँ सरस्वती को भी नमन कर लें जिनका आशीर्वाद सबसे जरुरी है..

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    बिलकुल सच कहा आपने रजनी जी|आपकी बात मुझे अच्छी लगी|शुक्रिया प्रतिक्रिया के लिए|

HIMANSHU BHATT के द्वारा
February 8, 2011

वाहिद जी….. बसंत पंचमी की शुभ कामनाएं…..

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    आपको भी हरीश भाई, शुक्रिया प्रतिक्रिया के लिए|

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    माफ कीजियेगा गलती से हरीश भाई छप गया हिमांशु भाई की जगह|

    Makaela के द्वारा
    July 12, 2016

    I’ll gear this review to 2 types of people: current Zune owners who are coieidsrnng an upgrade, and people trying to decide between a Zune and an iPod. (There are other players worth considering out there, like the Sony Walkman X, but I hope this gives you enough info to make an informed decision of the Zune vs players other than the iPod line as well.)

chaatak के द्वारा
February 8, 2011

वाग्देवी को समर्पित इस रचना पर बधाई! माँ के विषय में इससे ज्यादा क्या कहें कि सबकुछ आपका ही दिया है, बस यूँ ही कभी अपनी वीणा तो कभी अपनी शलाका बना कर झंकृत कर दिया करो!

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    चातक जी, आपसे प्रतिक्रिया पाकर सुखद अनुभूति हुई, आप हॉल ऑफ फ़ेम जो ठहरे|और फिर इतनी सुन्दर प्रतिक्रिया|अनेकानेक धन्यवाद आपको|

    Ladainian के द्वारा
    July 12, 2016

    “Care to di2ogree?&#82s1;Correlatian does not imply causation. We have had the worst economic disaster since WWII. Would that have something to do with it?Looks like it is Drudge Report day today. While we are at it, I think the big O caused the dinosaurs to go extinct as well. They foresaw this election and decided to kill themselves to avoid living under a soc!ialist regime.

baijnathpandey के द्वारा
February 7, 2011

माँ शारदे को सादर नमन एवं आपको बधाई ….इस मनहारी वंदना के लिए

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    बहुत-बहुत धन्यवाद पाण्डेय जी आपकी प्रतिक्रिया के लिए|

Amit Dehati के द्वारा
February 7, 2011

आपसे यहीं उम्मीद थी …..| आप सदैव अच्छा लिखते रहे यही मेरी अभिलाषा रहेगी | बहुत सुन्दर !

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    शुक्रिया अमित भाई

    Dreama के द्वारा
    July 12, 2016

    Hallo Herr Burbach,ich würde Ihnen eine rechtliche Beratung empfehlen. Vielleicht hilft Ihnen auch dieser Artikel weiter: .Viele GrnDße¼eÃnis Hundt

rajkamal के द्वारा
February 7, 2011

प्रिय वाहिद भाई … आदाब ! माँ सरस्वती आप की सभी अभिलाषाए पूर्ण रूप से पपूरी करे …. इसी कामना के साथ

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 8, 2011

    भ्राता श्री, आपके लिए मेरी भी यही कामना है|शुक्रिया सहित,

Piyush Pant, Haldwani के द्वारा
February 7, 2011

माँ सरस्वती को सादर प्रणाम…….. खूबसूरत वंदना………. वाहिद भाई……… हार्दिक बधाई……

वाहिद काशीवासी के द्वारा
February 7, 2011

इतने सुन्दर शब्दों में सराहना के योग्य नहीं हूँ मैं, फिर भी आपका बहुत धन्यवाद|

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    निखिल जी यह आपकी प्रतिक्रिया के जवाब में है..

    Jaylyn के द्वारा
    July 12, 2016

    Przecieki matura 2012 / I apeitcraep, cause I discovered just what I was taking a look for. You have ended my 4 day lengthy hunt! God Bless you man. Have a great day. Bye

NIKHIL PANDEY के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी जागरण मंच के रत्नों में आप भी एक है… इतनी सुन्दर प्रार्थना है की मन को छू गई ..लिखते रहे.. शुभकामनाये

rajeev dubey के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी, वाणी पुत्र हैं आप, आपकी रचना अच्छी लगी, यूं ही लिखते रहिये.

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    आपकी प्रतिक्रिया पाकर बहुत ख़ुशी हुई|यूँ ही स्नेह बनाये रखें|

    Jessalyn के द्वारा
    July 12, 2016

    Dzisiaj napisaÅ‚am do maÅ‚ej Nikolki list Mam nadzieje że niedÅ‚ugo dojdzie, ale dopiero dzisiaj wżÅy‚Åo‚am do skrzynki to pewnie za kilka dni Czy Nikusia ma rodzeÅ„stwo ?

div81 के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी, आप पर माँ सरस्वती का आशीर्वाद यूँ ही बना रहे |

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    दिव्या जी, शुक्रिया|अपनी भी यही कामना है|आप पर भी उनकी कृपावर्षा होती रहे|

alkargupta1 के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी , बहुत ही सुन्दर रचना और विचार ! माँ सरस्वती को करबद्ध नमन ! हार्दिक शुभकामनाएं !

Shailesh Kumar Pandey के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी ! बसंत पंचमी की पूर्म संध्या पर मान शारदा की सुन्दर वंदना प्रस्तुत करने के लिए आभार एवं बधाई

February 7, 2011

अति सुन्दर, माँ सरस्वती का आशीर्वाद सदैव तुम्हारे साथ बना रहे भैया.

nishamittal के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी,नमस्कार माँ सरस्वती को प्रणाम साथ ही आपके सुंदर भावों को.शुभकामनाएं आपको .

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    आदरणीय निशा जी, प्रणाम, इस प्रशंसा के लिए आपका बहुत-बहुत शुक्रिया|

deepak pandey के द्वारा
February 7, 2011

वसंत पंचमी की पूर्व संध्या पर आपने माँ शारदा की आराधना में आपके शब्द दिल को छू गए . आपक कोटिश : धन्याद.62833

वाहिद काशीवासी के द्वारा
February 7, 2011

ब्लॉगर बंधु-बांधवों, इस वक़्त वैलेंटाइन कॉन्टेस्ट के चलते सभी लोग ज़ोर-शोर से ब्लॉगिंग कर रहे हैं|सहसा मुझे याद आया कि ८ फ़रवरी को वसंत पंचमी का पावन त्यौहार है|माँ के ही आशीर्वाद से आज मेरी लेखनी इतनी सक्षम हो पाई है कि अपना लिखा आपके सामने पेश कर पाता हूँ और आपकी सराहना भी मिलती है|सो, अपनेआप को रोकने का कोई औचित्य नहीं था|कुछ वर्ष पूर्व यह रचना की थी अब आपके सामने प्रस्तुत है| माँ को सादर नमन और आपसब को आभार सहित,

Deepak Sahu के द्वारा
February 7, 2011

वाहिद जी! बहुत ही सुंदर अभिलाषायें, एवं अत्यंत ही सुंदर रचना! बधाई! http://deepakkumarsahu.jagranjunction.com/2011/02/05/%E0%A4%95%E0%A4%A0%E0%A4%BF%E0%A4%A8-%E0%A4%B9%E0%A5%88-%E0%A4%A1%E0%A4%97%E0%A4%B0-%E0%A4%87%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%95-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%AF%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A4%97%E0%A4%B0-valentine-c/ दीपक

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    शुक्रिया दीपक जी इस सराहना के लिए|

    Prudence के द्वारा
    July 12, 2016

    That’s a smart way of lonokig at the world.

Aakash Tiwaari के द्वारा
February 7, 2011

श्री वाहिद जी, आजके इस पोस्ट को पढने के बाद मै आपका फुल इंट्रो चाहता हूँ यदि आप बुरा न माने तो… बसंत पंचमी की आपको तथा आपके परिवार को बहुत -बहुत शुभकामनाये.. आकाश तिवारी

    वाहिद काशीवासी के द्वारा
    February 7, 2011

    आकाश भाई, इस लेख को पढ़ने के बाद ही ऐसा क्यूँ?इससे पहले क्यूँ नहीं? एक बात आपसे कहना चाहूँगा कि कला का न तो कोई धर्म होता है और न ही कोई जाति|चलिए कभी मौक़ा मिला तो मुलाक़ात भी हो ही जायेगी|अभी कल ही इलाहाबाद से लौटा हूँ मगर वक़्त न होने की वजह से ज़्यादा देर रुक नहीं सका|आपको भी वसंत पंचमी की ढेरों शुभकामनाएँ|

    Aakash Tiwaari के द्वारा
    February 7, 2011

    वाहिद जी, मै आपके ज्ञान और विवेक की बहुत इज्जत करता हूँ, मै तो चाहता हूँ हमसब सर्वधर्म समभाव की पद्धति पे चले तो बहुत कुछ अच्छा हो सकता है…. अगली बार जब इलाहाबाद आये तो अवश्य मिलिएगा…. आकाश तिवारी


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran